व्यवसायी से 50 किलोग्राम चांदी लूट मामला: अखिलेश ने सरकार पर साधा निशाना, कहा- UP में तो पुलिसवालों की चांदी है

punjabkesari.in Friday, Jun 09, 2023 - 07:43 PM (IST)

कानपुर: औरैया जिले में पुलिस ने बांदा के एक व्यवसायी से 50 किलोग्राम चांदी लूटने की घटना को लेकर उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि यूपी में तो पुलिस वालों की चांदी है, भाजपा राज में भ्रष्ट्रचार की आंधी है। दरअसल,  भोगनीपुर कोतवाली के इंस्पेक्टर, दरोगा और एक हेड कांस्टेबल ने चार दिन पहले कार का पीछा कर औरैया कोतवाली क्षेत्र में सर्राफा कारोबारी से 50 किलो 50 kg silver चांदी लूट ली। पीड़ित ने मामले की शिकायत पुलिस अधीक्षक से की थी। इस दो पुलिसकर्मियों समेत छह लोगों को गिरफ्तार किया है। एक पुलिस अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी दी।

एसएचओ और उपनिरीक्षक निलंबित 
अधिकारी ने कहा कि गिरफ्तार पुलिसकर्मियों की पहचान भोगनीपुर (कानपुर देहात जिला) के थाना प्रभारी (एसएचओ) अजय पाल और एक उपनिरीक्षक चिंतन कौशिक के रूप में की गई है और दोनों को निलंबित कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि अजय पाल और कौशिक के आधिकारिक आवास से बरामद की गई 50 किलोग्राम चांदी की कीमत करीब 37 लाख रुपये है। इस मामले में फरार आरोपी हेड कांस्टेबल राम शंकर यादव को भी निलंबित कर दिया गया है। 

आरोपी की तैनाती कानपुर देहात में थी
पुलिस अधिकारियों का कहना है कि निलंबित तीनों पुलिसकर्मी कानपुर देहात जिले के भोगनीपुर थाने में तैनात थे। बांदा के छोटी बाजार खिन्नी नाका निवासी मनीष सोनी उर्फ सागर ने  फोन पर बताया कि वह अपने चचेरे भाई रवि सोनी, पत्नी सोनाली सोनी और बेटी आशी के साथ बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे के रास्ते बांदा से औरैया जा रहे थे, लेकिन मंगलवार को पुलिस की वर्दी पहने दो लोगों तथा दो अन्य लोगों ने उनकी कार को रोक लिया। उन्होंने बताया कि कारबाइन गन के साथ मौजूद एक पुलिसकर्मी ने चालक जगनंदन से अपना पहचान पत्र दिखाने के लिए कहा और पहचान पत्र नहीं दिखाने पर उसे कार से नीचे उतार दिया।
 

उन्होंने बताया कि बाद में पुलिसकर्मियों ने उन सभी को कार से नीचे उतरने और चुपचाप खड़े रहने के लिए कहा। मनीष ने बताया कि एक पुलिसकर्मी और सादे कपड़े पहने एक व्यक्ति ने उनकी कार की तलाशी ली और चांदी के 30 टुकड़ों से भरा 50 किलोग्राम से अधिक वजन वाला बैग निकाल लिया। फिर उन्होंने चालक जगनंदन को अपनी कार में बैठा लिया और उसे औरैया की ओर ले गए, लेकिन बाद में उन्होंने उसे भाऊपुर पुल (औरैया) के पास छोड़ दिया।

औरैया की पुलिस अधीक्षक (एसपी) चारू निगम ने शुक्रवार को  बताया कि प्राथमिकी दर्ज करने के तुरंत बाद अपराध शाखा के अलावा पुलिस की कई टीम को मामले को सुलझाने का काम सौंपा गया था। आपराधिक खुफिया जानकारी एकत्र करने के बाद उन्होंने कानपुर देहात के पुलिस अधीक्षक बीबीजीटीएस मूर्ति के साथ जानकारी साझा की। इसके बाद उन्होंने एसएचओ अजय पाल और उपनिरीक्षक (एसआई) कौशिक के आधिकारिक आवास पर छापा मारा और लूटी गई चांदी बरामद की। इसके आधार पर शुक्रवार सुबह एसएचओ अजय पाल और एसआई कौशिक को गिरफ्तार कर लिया गया। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि पूरे अभियान को बहुत ही गुप्त तरीके से अंजाम दिया गया और दोनों जिलों के पुलिस अधीक्षक बृहस्पतिवार देर रात मोटरसाइकिल से अजय पाल के आधिकारिक आवास पर पहुंचे। औरैया के पुलिस अधीक्षक निगम ने बताया कि बुधवार को मामला दर्ज किया गया था। निगम ने बताया कि गिरफ्तार चार अन्‍य लोग झांसी, बांदा और हमीरपुर के रहने वाले हैं, लेकिन उन्होंने उनके नामों का खुलासा नहीं किया। 


 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static