इटावा: SP सिटी का तबादला, ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान भाजपा नेता ने मार था थप्पड़

punjabkesari.in Wednesday, Aug 25, 2021 - 02:00 PM (IST)

इटावा: उत्तर प्रदेश के इटावा में ब्लाक प्रमुख चुनाव में हुये बवाल के चलते भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जिलाध्यक्ष को हटाये जाने के बाद पुलिस अधीक्षक का भी तबादला कर दिया गया है। ब्लाक प्रमुख चुनाव के दौरान बढपुरा में फायरिंग के बीच एसपी सिटी प्रशांत कुमार प्रसाद को भाजपा नेता विमल भदौरिया ने थप्पड़ मार दिया था। इस घटना से क्षुब्ध मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पार्टी की जिला इकाई को जमकर लताड़ लगायी थी। इसी क्रम में 15 अगस्त को भाजपा जिलाध्यक्ष अजय घाकरे को पद से हटा दिया गया जबकि 24 अगस्त को एसपी सिटी का तबादला मुजफ्फरनगर में एसपी क्राइम के पद पर कर दिया गया। उनकी जगह हरदोई में तैनात एसपी सिटी पश्चिम कपिल देव सिंह को एसपी सिटी इटावा बनाया गया है।  

बता दें कि घटना वाले दिन एसपी ने आला अफसरों को घटना की जानकारी देते हुए बताया था कि भाजपा नेता विमल भदौरिया के साथी ने उन्हे थप्पड़ मारा और ये लोग लाठी-डंडे, बम, असलहे लेकर आए हैं। इस वीडियो के वायरल होने के बाद पूरे प्रदेश मे भाजपाईयो की भूमिका पर सवाल उठना शुरू हो गये थे। इससे पहले समाजवादी पार्टी लगाताार योगी सरकार के अफसरो पर सवाल उठा रही थी कि पंचायत चुनाव मे सत्ता के इशारे पर उम्मीदवारो को डराया धमकाया जा रहा है।  वायरल वीडियो मे एसपी सिटी को साफ साफ कहते हुए सुना गया कि भाजपा के लोग पुलिसकर्मियों से मारपीट, पथराव व फायरिंग भी कर रहे हैं। यह मामला मुख्यमंत्री के दरबार तक पहुंचा था। इसी के बाद भाजपा जिलाध्यक्ष अजय धाकरे को हटाया जाना और फिर एसपी सिटी का तबादला होना इस प्रकरण से जोड़ कर देखा जा रहा है। 

गौरतलब है कि पंचायत चुनाव के तहत 10 जुलाई को ब्लाक प्रमुख चुनाव का मतदान हुआ था। इस दिन बढ़पुरा ब्लाक में मतदान चल रहा था, तभी भाजपा के कई नेता समर्थकों के साथ ब्लाक कार्यालय के बाहर एकत्रित हो गए थे। माहौल बिगड़ता देख एसपी सिटी प्रशांत कुमार प्रसाद ने सहकर्मियों के साथ भीड़ को हटाने का प्रयास किया था। उसी दौरान भाजपा नेता विमल भदौरिया ने एसपी सिटी को थप्पड़ मार दिया था। चुनाव के दरम्यान भाजपा नेताओ के बवाल को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पाटर्ी नेताओं की जमकर के लताड़ लगाई । मुख्यमंत्री इटावा के भाजपा नेताओ से इतने गुस्से मे दिखे उन्होंने साफ शब्दो मे कहा था कि जब सब सीटे हार गए तो केवल एक सीट के लिए इतने बबाल की जरूरत क्या थी । मुख्यमंत्री की नाराजगी के बाद इटावा के भाजपाई बगले झांकते हुए नजर आये है ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static