नए कृषि कानून को लेकर हाइवे पर किसानों का धरना प्रदर्शन, एंबुलेंस सहित भारी मात्रा में वाहन फंसे

punjabkesari.in Friday, Nov 27, 2020 - 01:09 PM (IST)

मथुरा: उत्तर प्रदेश के किसान भी नए कृषि विल के विरोध में दिल्ली जाने के लिए सड़क पर उतर कर प्रदर्शन शुरू कर दिए है। किसानों के 26 नवंबर से 28 नवंबर तक चलने वाले दिल्ली चलो प्रोटेस्ट मार्च का आज दूसरा दिन है। गुरुवार को प्रशासन ने उन्हें दिल्ली बॉर्डर पर रोक दिया  है। लेकिन किसान दिल्ली जाने की मांग कर रहे है। मेरठ के किसान का कहना है कि खाने पीने के राशन लेकर जा रहे है। किसानों ने बताया कि पंजाब हिरयाण के किसान दिल्ली पहुंच रहे है। हम उनके समर्थन में खड़े है। वहीं हाइवे पर सफर करने वाले लोग जाम में फंस गये। एंबुलेंस सहित कई भारी वाहन को जाम की संकट का सामना करना पड़ रहा है। 
PunjabKesari
बता दें कि मेरठ भारतीय किसान यूनियन ने यूपी की तरफ से दिल्ली जाने वाले सभी राष्ट्रीय राजमार्गों को जाम करने का ऐलान किया है। मेरठ में जटोली गांव के पास भारतीय किसान यूनियन के कार्यकर्ताओं ने हाईवे पर जाम लगा दिया। किसानों की माने तो वो अब हाइवे से हटने वाले नही है ओर वो पंजाब के किसानों के साथ है अगर जरूरत पड़ी तो सभी किसान मेरठ से दिल्ली के लिए भी रवाना होंगे।
PunjabKesari
गौरतलब है कि पंजाब के सिरसा में किसानों ने प्रशासन की ओर से लगाई गई बैरीकेंडिंग को हटा कर आगे बढ़ रहे है। किसानों की मांग है कि वे अपने अधिकारों के लिए दिल्ली जा रहे हैं। एक किसान ने कहा कि हम जो कुछ भी करेंगे शांतिपूर्ण तरीके से करेंगे। हम किसी व्यक्ति या संपत्ति को नुकसान नहीं पहुंचाएंगे। अगर हमें महीने भर तक यहां रहना पड़े तो हम रहेंगे। इतना ही नहीं, अगर हमें शहादत भी मिली तो हम उसके लिए भी तैयार हैं। लेकिन अपना अधिकार लेकर ही रहेंंगे। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ramkesh

Related News

Recommended News

static