25 सितम्बर को कृषि संशोधन बिल के खिलाफ किसान करेंगे देशव्यापी आंदोलन: भाकियू

punjabkesari.in Wednesday, Sep 23, 2020 - 05:30 PM (IST)

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कृषि संशोधन विधेयक 2020 के संबंध में आश्वासन के बावजूद, राज्य के कई किसान संगठनों ने 25 सितंबर को देशव्यापी विरोध में शामिल होने का संकल्प व्यक्त किया है। भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने बुधवार सुबह पांच अन्य सदस्यों के साथ मुख्यमंत्री से मुलाकात की। मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि उनका संगठन 25 सितम्बर को विरोध का हिस्सा होगा। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री से आज की बैठक विभिन्न मुद्दों पर थी।
PunjabKesari
टिकैत ने कहा कि उनका संगठन संसद द्वारा पारित नए कृषि विधेयकों पर किसानों द्वारा लिये गये निर्णय देशव्यापी आंदोलन का पूरी तरह से समर्थन करता है। उन्होंने कहा कि योगी ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) से कम पर अनाज की खरीद नहीं किये जाने का आश्वासन दिया है। केंद्र द्वारा लाया गया फार्म बिल किसान विरोधी है। तराई क्षेत्र में महत्वपूर्ण पकड़ वाले उत्तर प्रदेश के एक और किसान संगठन ने भी विरोध प्रदर्शन को अपना समर्थन दिया है।

मुख्यमंत्री ने किसानों के साथ बातचीत में घोषणा की है कि एमएसपी खत्म नहीं होगा। उन्होंने कहा कि अब किसानों को एमएसपी पर या बाजार में ऊंचे दामों पर बेचने का दोहरा लाभ होगा, जो कभी भी उन्हें सूट करता है। उन्होंने घोषणा की है कि नया गन्ना पेराई सत्र 15 अक्टूबर से राज्य के पश्चिमी हिस्सों में और 25 अक्टूबर को राज्य के बाकी हिस्सों में शुरू होगा और अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देश दिया है कि उस समय तक सभी किसानों का बकाया चीनी मिलों द्वारा बकाये का भुगतान किया जाय।  मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पहले से ही 3000 से अधिक धान खरीद केंद्र स्थापित किए गए हैं। किसान चाहें तो और अधिक खरीद केंद्र खोले जा सकते हैं। 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Ramkesh

Related News

Recommended News

static