लतीफशाह बांध के ऊपर से गिर रहा है ओवरफ्लो होकर पानी, इस नयनाभिराम दृश्य को देखने के लिए पहुंच रहे सैलानी

punjabkesari.in Monday, Aug 02, 2021 - 04:09 PM (IST)

चंदौली: उत्तर प्रदेश के चंदौली जिले के नक्सल प्रभावित पहाड़ी इलाकों में हो रही लगातार बारिश के कारण बांध और बंधियों में पानी काफी भर गया है और यह पानी बांधों के ऊपर से नीचे गिरने लगा है। बांधों से ओवरफ्लो होकर गिर रहे पानी की शोर और उसकी नैसर्गिक सुंदरता को देखने के लिए बड़ी संख्या में सैलानी भी इन बांधों की तरफ रुख कर रहे हैं और इस नयनाभिराम दृश्य को अपने आंखों के साथ-साथ मोबाइल और कैमरे में कैद करने को आतुर दिख रहे हैं।

PunjabKesari
ये नजारा उत्तराखंड या हिमाचल प्रदेश का नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश के अति पिछड़े और नक्सल प्रभावित जनपद चंदौली जिले के चकिया तहसील क्षेत्र में स्थित लतीफशाह बांध का है। बांध के ऊपर से तेज करतल ध्वनि करता नीचे की तरफ गिर रहा बांध का पानी यह अपने आप में काफी सुंदर और रोमांचित करने वाला है। दरअसल जिले के नक्सल प्रभावित चकिया के पहाड़ी इलाके और नौगढ़ के पहाड़ी इलाकों में हो रही लगातार बारिश के कारण पहाड़ी इलाकों से पानी अब मैदानी इलाकों की तरफ रुख कर रहा है। इस बरसाती पानी को रोकने के लिए जगह-जगह बांध और बंधिया बनाई गई थी। इन्हीं बांधों में एक है चकिया तहसील क्षेत्र में स्थित लतीफशाह बांध। पहाड़ी इलाकों में जब भारी बारिश होती है तो लतीफशाह बांध में इकट्ठा पानी ओवरफ्लो होकर करीब 60 फीट नीचे गिरने लगता है। गिरते हुए पानी के तेज आवाज और मनोरम दृश्य लोगों को अपनी तरफ आकर्षित करता है।

PunjabKesari
इस नयनाभिराम दृश्य को देखने के लिए और उसको अपने आंखों सहित कैमरे और मोबाइल में कैद करने के लिए चंदौली जनपद के आस-पास के जनपदों के साथ ही पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों से और पूर्वी बिहार से भी बड़ी संख्या में सैलानी आते हैं। हालांकि इस दौरान कई घटनाएं भी बीते कुछ महीनों में हो चुकी हैं। इसको लेकर अब स्थानीय प्रशासन में थोड़ी चुस्ती दिखाई है। इस कारण सैलानियों की संख्या में थोड़ी कमी आई है। वर्तमान में लतीफशाह बांध के ऊपर लगभग 7 फुट की ज्यादा ऊंचाई से पानी नीचे की तरफ गिर रहा है और यह दृश्य अपने आप में काफी मनभावन और रोमांच पैदा करने वाला है। इस दृश्य का लुत्फ उठाने के लिए मौके पर पहुंचे सैलानियों ने काफी तारीफ की। सैलानियों ने कहा कि उनको इस प्राकृतिक छटा का आनंद मिल रहा है। हम लोग काफी खुश है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Umakant yadav

Related News

Recommended News

static