खुलासा: प्रेम प्रसंग से नाराज पिता ने प्रेमिका और प्रेमी को मारी थी गोली, प्रेमी की मौत

punjabkesari.in Thursday, May 26, 2022 - 07:30 PM (IST)

 प्रयागराज: बीते 25 मई को प्रयागराज के नैनी इलाके में हुई  युवक की हत्या मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस की मानें तो मृतक का एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। मृतक प्रेमिका से मिलने के लिए उसके घर भोर में गया था। इसी दौरान प्रेमिका के पिता ने प्रेमी को देख लिया। प्रेमिका के पिता ने इसी दौरान आपा खो दिया।

प्रेमी की मौत हो गई प्रेमिका घायल 
गुस्साए पिता ने लाइसेंसी पिस्टल बेटी को मारना चाहा लेकिन इसी बीच उसे बचाने का प्रयास किया जिसे गोली प्रेमी को लग गई। प्रेमी की मौत हो गई प्रेमिका घायल हो गई। प्रेमिका का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है।  वहीं हत्यारे पिता को पुलिस ने गिरफ्तार जेल भेज दिया है। आरोपी ने पूछताछ में आरोपी सुनील मिश्रा ने अपना जुर्म  भी कुबूल कर लिया है। आरोपी के पास से  लाइसेंसी पिस्टल और कारतूस बरामद किया  गया है।

प्रेमी से दूर रहने की पिता ने दी थी नसीहत
आरोपी सुनील मिश्रा ने पुलिस की पूछताछ में बताया है कि उसने तैश में आकर बेटी के प्रेमी को गोली मारने का प्रयास किया। जिसमें उसकी बेटी बचाने का प्रयास कर रही थी, जिसके बदौलत उसे गोलियां लगी हैं। पुलिस की पूछताछ में उसने बताया कि पहले भी बेटी को प्रेमी से दूर रहने की नसीहत दे चुका था। लेकिन बुधवार की भोर में जब प्रेमी के साथ उसे घर में देखा तो उसने आपा खो दिया। अपनी लाइसेंसी पिस्टल से उसने बेटी के प्रेमी को गोली मारी, जिसमें मौके पर ही प्रेमी अर्णव सिंह की मौत हो गई।जबकि बेटी ने बचाने का प्रयास किया जिसके चलते उसे भी गोली लगी है, बेटी को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। आरोपी सुनील मिश्रा को फिलहाल अपने किए पर पछतावा भी है। लेकिन उसने यह सारी घटना तैश में आकर की है। पुलिस ने आज उसे कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है।

युवक की हत्या में प्रेमिका के परिजनों पर पुलिस को था शक
गौरतलब है कि नैनी के चक हीरानंद इलाके में बुधवार की भोर में पुलिस को सूचना मिली थी कि एक घर के भीतर एक युवक और एक युवती को गोली लगी है। सूचना पर पहुंची पुलिस ने जब देखा तो मौके पर अर्णव सिंह नाम के युवक की मौत हो चुकी थी। जबकि युवती की हालत गंभीर बनी हुई थी। जिसको इलाज के लिए स्वरूप रानी अस्पताल भेजा गया। जहां पर उसका उपचार चल रहा है। पुलिस को शुरुआत में ही घटना को लेकर परिवार पर ही शक था। ऐसे में जब युवती के पिता सुनील मिश्रा को हिरासत में लेकर पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल लिया। एसपी यमुनापार सौरभ दीक्षित ने बताया कि आरोपी को जेल भेजा जा रहा है। मामले में साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static