लापरवाही: मोर्चरी में चार दिन से पड‍़ी लावारिस लाश की स्वास्थ्य विभाग ने नहीं ली सुध

punjabkesari.in Wednesday, May 05, 2021 - 05:55 PM (IST)

आजमगढ़: ज़िले में पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही की इंतेहा है। एक महिला का लावारिस लाश मोर्चरी में चार दिन तक यूं ही पड़ी रही। पुलिस ने न तो पोस्टमार्टम कराया और न ही स्वास्थ्य विभाग ने शव की सुध ली। नतीजा, चीटियां और चूहे शव का अधिकांश भाग चट कर गए। दुर्गंध आने पर इसका पता चला। सामाजिक संगठन आगे आया। वही कोई भी सक्षम अधिकारी इस बाबत बोलने से बचता रहा।

जानकारी के मुताबिक मामला आजमगढ़ के बलरामपुर मंडलीय ज़िला अस्पताल के रिकॉर्ड के मुताबिक 29 अप्रैल की शाम बिलरियागंज में सड़क पर घायल अवस्था में मिली 32 वर्षीय अज्ञात महिला को 108 नंबर की एंबुलेंस के कर्मचारियों ने शाम पांच बजे मंडलीय अस्पताल में भर्ती कराया था। अगले दिन 30 अप्रैल की सुबह उसकी मौत हो गई तो कर्मचारियों ने शव को मर्चरी हाउस में रखवा दिया। साथ ही शव के शिनाख्त व पोस्टमार्टम की प्रक्रिया के लिए पुलिस को सूचना भेज दी गयी लेकिन स्वास्थ्य व पुलिस विभाग दोनों की लापरवाही के चलते न तो शव की शिनाख्त हो सकी, न ही पोस्टमार्टम कराया गया। जिसका परिणाम यह रहा कि शव को चीटियां और चूहे चाट गए। चार दिन से पड़े इस शव से बदबू भी आनी शुरू हुई तो पता चला कि एक लावारिश शव पोस्टमार्टम हाउस में पड़ा है।

मीडिया के लोगों ने जब इस बाबत अस्पताल प्रशासन से बात करनी चाहिए तो वह पल्ला झाड़ने लगी और मीडिया से बात करने में कतराते नजर आए। वही जब इस बात की जानकारी सामाजिक संगठन भारत रक्षा दल को हुई तो उन्होंने शव के अंतिम संस्कार के लिए अपने लोगों को पोस्टमार्टम हाउस भेजा और प्रक्रिया पूरी करने के बाद शव का अंतिम संस्कार कराने की तैयारी में जुट गए हैं। वहीं भारत रक्षा दल के प्रदेश अध्यक्ष हरिकेश विक्रम श्रीवास्तव का कहना है कि इनका संगठन लावारिस लाशों का अंतिम संस्कार करता है और आज भी हमारे कार्यकर्ता जिला अस्पताल पहुंचे हैं और जो भी फॉर्मेलिटी है उसको पूरी करने के बाद शव का अंतिम संस्कार करेंगे। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही बड़ी लापरवाही है और इसमें जो लोग ही दोषी हो उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।
 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Ramkesh

Related News

Recommended News

static